प्रधानमंत्री मोदी ने शुरू की गई मध्य प्रदेश स्टार्टअप नीति

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश स्टार्टअप नीति (Madhya Pradesh Startup Policy) की घोषणा की और इंदौर में हुए मध्य प्रदेश स्टार्टअप कॉन्क्लेव (Madhya Pradesh Startup Conclave) में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्टार्टअप समुदाय से बात की। प्रधान मंत्री ने मध्य प्रदेश स्टार्टअप पोर्टल का भी अनावरण किया, जो राज्य में स्टार्टअप वातावरण को आसान और बढ़ावा देगा।

इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ-साथ प्रमुख अधिकारी और उद्यमी शामिल होंगे। अधिकारिक बयान के अनुसार, मध्य प्रदेश में केंद्र सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त 1,937 स्टार्ट-अप हैं, जिनमें से 45 प्रतिशत महिलाएं चला रही हैं।

मध्य प्रदेश स्टार्टअप कॉन्क्लेव में स्टार्टअप इकोसिस्टम के विभिन्न स्तंभों का प्रतिनिधित्व किया जाएगा, जिसमें सरकारी और निज़ी क्षेत्र के नीति निर्माता (government and private sector policymakers), नवोन्मेषक/इनोवेटर्स, उद्यमी/एंटरप्रेन्योर, शिक्षाविद (academicians), निवेशक, संरक्षक और अन्य हितधारक (stakeholders) शामिल हैं।

इसमें कई सत्र शामिल थे, जिनमें हैं:

  • एक स्पीड मेंटरिंग सत्र (speed mentoring session), जिसमें स्टार्टअप ने शैक्षणिक संस्थानों और स्टार्टअप समुदाय के नेताओं के साथ बातचीत की जाएगी।
  • एक स्टार्टअप कैसे शुरू करें सत्र ( how to start a startup session), जिसमें नीति निर्माताओं ने स्टार्टअप का मार्गदर्शन किया जाएगा।
  • एक फंडिंग सत्र जिसमें उद्यमियों ने विभिन्न फंडिंग विधियों के बारे में सिखाया जाएग।
  • एक पिचिंग सत्र (pitching session), जिसमें स्टार्टअप्स को निवेशकों के साथ सहयोग करने और फंडिंग के लिए अपने विचारों को पेश करने का अवसर मिलेगा।
  • एक पारिस्थितिकी तंत्र समर्थन सत्र (ecosystem support session), जिसमें नीति निर्माताओं द्वारा स्टार्टअप को निर्देशित किया गया था।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री: शिवराज सिंह चौहान
close button

Leave a Comment