Today’s current affairs in hindi : 21 Feb 2020 | Daily current affairs

NOTE : Today’s current affairs in hindi/ News Headlines :21 Feb 2020. यूपीएससी, एसएससी, बैंक, रेलवे सहित केंद्र एबं राज्य सरकारों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगिता परीक्षा के लिए उपयोगी 

Today’s current affairs in hindi : 21 Feb 2020. तुरंत सभी आवश्यक जानकारी के साथ नवीनतम करेंट अफेयर्स प्राप्त करें, आज के सभी मौजूदा मामलों को जानने के लिए पहले बनें 21 फरवरी 2020 शीर्ष समाचार, प्रमुख मुद्दे, वर्तमान समाचार, राष्ट्रीय वर्तमान समाचारों में महत्वपूर्ण घटनाएं स्पष्ट स्पष्टीकरण के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं और साक्षात्कारों के लिए, अपने आप को नवीनतम करंट अफेयर्स  से update करें।

Today's Hindi Current Affairs

Today’s Hindi Current Affairs / News Headlines

21 फरवरी : अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस

21 फरवरी को प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य भाषा विज्ञान के बारे में जागरूकता, सांस्कृतिक विविधता तथा बहुभाषावाद को बढ़ावा देना है। इसकी घोषणा सर्वप्रथम यूनेस्को ने 17 नवम्बर, 1999 को मंज़ूरी दी थी।

मुख्य बिंदु

21 फरवरी, 2000 के प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस को मनाया जाता है। बाद में संयुक्त राष्ट्र ने 2008 को अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा वर्ष घोषित करने हुए प्रस्ताव पारित किया गया। मातृभाषा दिवस को मनाने का विचार बांग्लादेश की पहल थी। बांग्लादेश में 21 फरवरी को बांग्ला भाषा को स्वीकृति देने के लिए संघर्ष की वर्षगाँठ के रूप में मनाया जाता है।

वर्ल्ड वाइड एजुकेशन फॉर द फ्यूचर इंडेक्स: भारत 35वें पायदान पर पहुंचा

इकोनॉमिक इंटेलिजेंस यूनिट ने हाल ही में वर्ष 2019 के लिए ‘वर्ल्डवाइड एजुकेशन फॉर द फ्यूचर इंडेक्स’  प्रकाशित किया। इस सूचकांक में भारत ने पांच स्थान की छलांग लगाई है और वर्तमान में भारत का रैंक 35 है।

मुख्य बिंदु

यह रैंकिंग किसी देश को अपने छात्रों को कौशल आधारित शिक्षा प्रदान  करने के आधार पर रैंकिंग प्रदान की जाती है। इस सूचकांक में भारत 53 के समग्र स्कोर के साथ 35वें स्थान पर रहा। यह स्कोर तीन मानकों में देशों के प्रदर्शन के आधार पर प्रदान किया गया, यह मानक हैं: शिक्षण, नीति वातावरण और शिक्षण वातावरण।

2018 में, भारत 41.2 के समग्र स्कोर के साथ 40 वें स्थान पर था। नीति पर्यावरण में, भारत ने 56.3 का स्कोर हासिल किया, शिक्षण वातावरण में भारत का स्कोर 52.2 था और सामाजिक-आर्थिक वातावरण में भारत का स्कोर 50.1 था।

भारत ने सामाजिक-आर्थिक परिवेश में बेहतर प्रदर्शन किया है। ऐसा इसलिए क्योंकि 2018 में इसका स्कोर 32.2 था। हालांकि, नीति के माहौल में प्रदर्शन में कमी आई क्योंकि 2018 में क्षेत्र में स्कोर 61.5 था।

वैश्विक रैंकिंग

सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में जो देश अपनी रैंकिंग में वापस आ गए हैं उनमें अमेरिका, ब्रिटेन, रूस और फ्रांस शामिल हैं। जबकि भारत चीन और इंडोनेशिया ने पिछले वर्ष के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन किया है।

एशियाई हाथी, ग्रेट इंडियन बस्टर्ड और बंगाल फ्लोरिकन को CMS COP13 में “लुप्तप्राय प्रवासी प्रजाति” के रूप में वर्गीकृत किया गया

20 फरवरी, 2020 को एशियाई हाथी, ग्रेट इंडियन बस्टर्ड (गोडावण)  और बंगाल फ्लोरिकन को CMS COP 13 में “लुप्तप्राय प्रवासी प्रजाति” के रूप में घोषित किया गया था। इस प्रस्ताव को 130 देशों द्वारा स्वीकार किया गया।

एशियाई हाथी

भारत ने भारतीय हाथी (एशियाई हाथी)  को “राष्ट्रीय विरासत पशु” घोषित किया है। यह वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम, 1972 की अनुसूची I के तहत पशु को अधिकतम कानूनी संरक्षण प्रदान करता है। एशियाई हाथियों को भारत में भारतीय हाथी कहा जाता है। भारतीय हाथियों के खतरों में निवास नुकसान, मानव-हाथी संघर्ष, निवास स्थान विनाश, अवैध व्यापार और अवैध शिकार शामिल हैं।

बंगाल फ्लोरिकन

प्राकृतिक आवास के विनाश के कारण बंगाल फ्लोरिकन की आबादी में बहुत गिरावट आई है। बंगाल फ्लोरिकन संरक्षित क्षेत्रों के बाहर प्रजनन नहीं करता। इसे IUCN सूची के तहत गंभीर रूप से लुप्तप्राय प्रजाति (critically endangered species)  के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

ग्रेट भारतीय बस्टर्ड

ग्रेट इंडियन बस्टर्ड ( गोडावण) को IUCN रेड लिस्ट में गंभीर रूप से लुप्तप्राय प्रजाति (critically endangered species) के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। भारत सरकार ने ग्रेट इंडियन बस्टर्ड की सुरक्षा के लिए इसके आवास को संरक्षण रिजर्व घोषित किया है। वाइल्डलाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के अनुसार देश में केवल 150 गोडावण बचेेे हुए हैं।

स्थायी खाद्य समाधान के लिए स्वीडन ने एक मिलियन डॉलर के पुरस्कार की घोषणा की

मुख्य बिंदु

यह पुरस्कार प्रतिवर्ष दिया जाएगा। स्वीडन दो “फूड प्लेनेट प्राइज” प्रदान करेगा। यह पुरस्कार है: “सतत भोजन के लिए एक मौजूदा स्केलेबल समाधान” और “वैश्विक खाद्य क्षेत्र को बदलने के लिए अभिनव पहल”।

आवश्यकता

वर्तमान में विश्व की जनसंख्या 7.8 पर अरब है,  और 2050 तक यह बढ़कर 10 अरब हो जाएगी। इतनी बड़ी आबादी को भोजन प्रदान करने  के लिए खाने की आदतों को बदलना, भोजन की बर्बादी कम करना और खाद्य उत्पादन में सुधार करना आवश्यक है।

वर्तमान समय में 820 मिलियन से अधिक लोगों को पर्याप्त भोजन नहीं मिल पाता। जनसंख्या के एक बड़े तबके को कम गुणवत्ता वाला आहार मिलता है। यह पुरस्कार लोगों को स्थायी खाद्य उत्पादन की दिशा में काम करने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन की चौथी वर्षगांठ मनाई गई

केंद्रीय ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 21 फरवरी को नई दिल्ली में डॉ अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के 4 वें वर्षगांठ समारोह का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम का विषय था ‘आत्मा गाँवो की, सुविधा  शहर  की’। इसे 21 फरवरी, 2016 को लॉन्च किया गया था। इस मिशन का उद्देश्य स्थानीय आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करना तथा सुनियोजित रूर्बन (Rural-Urban) क्षेत्र का निर्माण करना है।

मुख्य बिंदु

मिशन का लक्ष्य 300 रुर्बन क्लस्टर विकसित करना है। नीति आयोग ने इन समूहों को 3 वर्षों में 1000 तक बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है।

मिशन

मिशन का उद्देश्य ग्रामीण सामुदायिक जीवन के सार को संरक्षित करना है। केंद्रीय बजट 2014-15 में इसकी घोषणा की गई थी। बजट में योजना के लिए 5,142 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे। चूंकि ग्रामीण इलाकों में 69% आबादी रहती है, इसलिए मिशन का उद्देश्य ग्रामीण आबादी को सुविधाएं उपलब्ध करवाना है।

योजना

मिशन का उद्देश्य मैदानी इलाकों में 25,000 से 50,000 की आबादी तथा रेगिस्तानी व पहाड़ी इलाकों में 5,000 से 15,000 तक की आबादी वाली ग्राम पंचायतों के साथ रूर्बन क्लस्टर विकसित करना है।

पहले वर्ष में लगभग 100 क्लस्टर विकसित किए जाने थे। यह राज्य सरकारों के साथ एक संयुक्त उद्यम है जहां राज्य सरकारों को समूहों को चिन्हित करना था। इसलिए, मिशन की प्रगति काफी धीमी है।

भारतीय रिजर्व बैंक ने शुरू की 5 वर्षीय वित्तीय समावेश रणनीति

भारतीय रिज़र्व बैंक ने वित्तीय समावेश (2019-24) के लिए राष्ट्रीय रणनीति (National Strategy for Financial Inclusion) लॉन्च की है। इस रणनीति का मुख्य उद्देश्य किफायती तरीके से वित्तीय सेवाओं तक पहुंच प्रदान करना है।

मुख्य बिंदु

सेबी (भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड), PFRDA (पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया) और भारतीय बीमा विनियामक व विकास प्राधिकरण (IRDAI) के साथ गहन परामर्श के बाद यह रणनीति शुरू की गई है। इस रणनीति को वित्तीय समावेश सलाहकार समिति (Financial  Inclusion Advisory Committee) की सिफारिशों के आधार पर लॉन्च किया गया है।

मुख्य सिफारिशें

इस रणनीति में शामिल मुख्य सिफारिशें निम्नलिखित हैं:

  • समिति ने सार्वभौमिक वित्तीय पहुंच की अनुशंसा की है। इसके तहत प्रत्येक गांव में 5 किमी के दायरे में औपचारिक वित्तीय सेवा प्रदाता होगा।
  • समिति ने 2022 तक कम नकदी वाले समाज का निर्माण करने के लिए डिजिटल वित्तीय सेवाओं के सुदृढ़ीकरण की सिफारिश की है।
  • प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत पंजीकृत प्रत्येक वयस्क को पेंशन योजना और बीमा योजना में नामांकित किया जाना चाहिए।
  • सार्वजनिक क्रेडिट रजिस्ट्री को मार्च 2022 तक पूरी तरह से चालू कर दिया जाना चाहिए।

भुवनेश्वर में हुआ खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2020 का शुभारंभ

उड़ीसा के भुवनेश्वर में ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2020’ का शुभारंभ हुआ। इन खेलों का आयोजन भुबनेश्वर में 21 फरवरी से 1 मार्च, 2020 के बीच किया जाएगा। इसमें देश भर के विश्वविद्यालयों के छात्र हिस्सा लेंगे।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स

केन्द्रीय खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के दायरे को बढ़ाकर बड़ा कर दिया है, इन खेलों में अब दो श्रेणियों, अंडर 17 और अंडर 21 में प्रतिभागी हिस्सा ले सकते हैं। इसमें कॉलेज और विश्वविद्यालय के खिलाड़ी भी हिस्सा ले सकते हैं। इन खेलों में 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों से 10,000 से अधिक खिलाड़ी हिस्सा ले सकते हैं।

खेलो इंडिया कार्यक्रम

इसकी शुरुआत केन्द्रीय खेल व युवा मामले मंत्रालय द्वारा देश में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए की थी। इसका उद्देश्य देश  में खेले जाने वाले सभी खेलों को बढ़ावा देना तथा भारत को एक मज़बूत खेल राष्ट्र के रूप में तैयार करना है। इस कार्यक्रम से युवा खिलाड़ियों को अपने कौशल को बेहतर करने तथा अपने कौशल का प्रदर्शन करने का मौका मिलेगा। इन खेलों में प्रतिभावान खिलाड़ियों को चिन्हित किया जायेगा तथा प्रत्येक चुने गये खिलाड़ी को 8 वर्षों के लिए 5 लाख  रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।

भारत के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज प्रज्ञान ओझा ने अंतर्राष्‍ट्रीय और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से तत्‍काल प्रभाव से संन्‍यास लेने की घोषणा की है। 

33 वर्षीय ओझा ने भारत के लिए आखिरी टेस्‍ट 2013 में मुंबई में खेला था, जो वेस्‍टइंडीज के खिलाफ सचिन तेंदुलकर का फेयरवेल टेस्‍ट था। ओझा ने 2009 से 2013 तक 24 टेस्‍ट मैचों में 113 विकेट लिए। इसके अलावा उन्‍होंने 18 एकदिवसीय मैचों में 21 विकेट हासिल किए। उन्‍होंने 6 टी-20 अंतर्राष्‍ट्रीय मैचों में भी हिस्‍सा लिया।

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, स्मृति ईरानी ने संयुक्त रूप से राष्ट्रीय जैविक खाद्य महोत्सव का उद्घाटन किया

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल और महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने आज नई दिल्ली में संयुक्त रूप से राष्ट्रीय जैविक खाद्य महोत्सव का उद्घाटन किया। तीन दिवसीय उत्सव का उद्देश्य जैविक बाजार को मजबूत करना और जैविक उत्पादों के निर्माण में लगी महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करना है।

सोर्स : GK TODAY AND FRESHERSLIVE

Hindi Current Affairs : 20 Feb 2020

Hindi Current Affairs  : 19 Feb 2020

Hindi Current Affairs  : 18 Feb 2020

Hindi Current Affairs : 17 Feb 2020

Hindi Current Affairs : 16 Feb 2020

I hope, this article about 21 February 2020 Current Affairs in Hindi |21 फरवरी 2020 करेंट अफेयर्स | GKToday in Hindi is very informative for you.

If you liked this article please follow us on Facebook and Twitter.

Share Now “Sharing is Caring”

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.