Today’s current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairs

Today’s current affairs in hindi/ News Headlines :27 Feb 2020. UPSC, SSC, बैंक, रेलवे सहित केंद्र एबं राज्य सरकारों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगिता परीक्षा के लिए उपयोगी। तो तैयार हो जाइये करंट अफेयर्स, एक दम नए तरीके से पढ़ने के लिए

Today’s current affairs in hindi : 27 Feb 2020. तुरंत सभी आवश्यक जानकारी के साथ नवीनतम करेंट अफेयर्स प्राप्त करें, आज के सभी मौजूदा मामलों को जानने के लिए पहले बनें 27 फरवरी 2020 शीर्ष समाचार, प्रमुख मुद्दे, वर्तमान समाचार, राष्ट्रीय वर्तमान समाचारों में महत्वपूर्ण घटनाएं स्पष्ट स्पष्टीकरण के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं और साक्षात्कारों के लिए, अपने आप को नवीनतम करंट अफेयर्स  से update करें।यहाँ पर आपको मिलेगा  नयी नियुक्तियां , अवार्ड्स और सम्मान, रक्षा समाचार, खेल समाचार, विज्ञान एवं तकनीक , ज्ञापन समझौता, महत्पूर्ण समिट और बहुत कुछ

Today's Hindi Current Affairs

Today’s Hindi Current Affairs / News Headlines

बालाकोट एयरस्ट्राइक को एक वर्ष पूरा हुआ

26 फरवरी, 2020 को बालाकोट एयरस्ट्राइक का एक वर्ष पूरा हुआ। इस एयरस्ट्राइक में भारत ने बालाकोट में आतंकी शिविरों को नष्ट किया था।

पृष्ठभूमि

भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में 26 फरवरी को की गयी एयरस्ट्राइक को “ऑपरेशन बन्दर” कोडनेम दिया था। भारतीय वायुसेना 26 फरवरी की सुबह लगभग 3:30 पर पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमला किया। इस कारवाई के लिए भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमानों का उपयोग किया गया। इस कारवाई में भारतीय वायुसेना ने 1000 किलोग्राम विस्फोटक का उपयोग किया। इस हमले में बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने का अनुमान लगाया गया।

पुलवामा आतंकवादी हमला

14 फरवरी, 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में CRPF के जवानों पर आतंकी हमला किया गया, इस हमले में CRPF के 42 जवान शहीद हुए। इस हमले की ज़िम्मेदारी इस्लामिक चरमपंथी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने ली थी। इस दौरान सैनिक बस में यात्रा कर रहे थे। इस पर सवाल उठाये गये थे कि सैनिकों हवाई मार्ग से यात्रा की अनुमति क्यों नहीं दी गयी जब सड़क मार्ग से यात्रा करने में खतरा है।

अभय कुमार सिंह को NHPC का अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairs

हाल ही में अभय कुमार सिंह को सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई NHPC Limited का अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है। उन्होंने 24 फरवरी, 2020 को कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक का पदभार संभाला है। अभय कुमार ने रतीश कुमार का स्थान लिया है, जिन्होंने अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के पद का अतिरिक्त प्रभार संभाला था।

NHPC

NHPC लिमिटेड को नेशनल हाइड्रोइलेक्ट्रिक पॉवर कारपोरेशन के नाम से जाना जाता है। इसका गठन 7 नवम्बर, 1975 में केंद्र सरकार उद्यम के रूप में की गयी थी। इसके गठन का उद्देश्य देश में जलविद्युत परियोजनाओं के निर्माण को बढ़ावा देना था। इसे मिनीरत्न का स्टेटस प्राप्त है।

रियाद में किया गया G-20 देशों के वित्त मंत्री तथा केन्द्रीय बैंक गवर्नर्स की बैठक का आयोजन

G-20 देशों के वित्त मंत्री तथा केन्द्रीय बैंक गवर्नर्स की बैठक का आयोजन 22-23 फरवरी, 2020 को रियाद में किया गया। इस बैठक में दुनिया भर से प्रतिनिधियों ने भाग लिया, इसमें चीन और कुछ देशों में कोरोना वायरस के नकारात्मक प्रभाव के बीच वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास को बनाए रखने पर चर्चा की गयी।

जी-20

जी-20 सरकारों व केन्द्रीय बैंकों का एक अंतर्राष्ट्रीय फोरम है, इसमें विश्व के सभी बड़ी अर्थव्यवस्थाएं शामिल हैं। जी-20 का गठन 26 सितम्बर, 1999 को किया गया था। इसका उद्देश्य सदस्य देशों को वैश्विक अर्थव्यवस्था के मुख्य बिन्दुओं व समस्याओं पर चर्चा करने के लिए एकत्रित करना है। जी-20 समूह के सदस्य इस प्रकार हैं : अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़ील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, अमेरिका और यूरोपियन संघ।

Realme ने भारत का पहला 5G स्मार्टफोन लॉन्च किया

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairs

चीनी स्मार्ट फोन निर्माता Realme ने हाल ही में भारत का पहला 5G सक्षम स्मार्टफोन पेश किया है, जिसे Realme X50 Pro नाम दिया गया है। इस फ्लैगशिप स्मार्टफोन को एक साथ स्पेन में भी लॉन्च किया गया। ‘स्मार्ट 5 जी’ के माध्यम से भारत के बाहर होने पर फोन में 5G का उपयोग किया जा सकता है, क्योंकि अभी तक 5G पूरी तरह से भारत में उपलब्ध नहीं है। जब तक भारत में 5G शुरू नहीं हो जाता तब तक इस फ़ोन को 4G मोड में इस्तेमाल किया जा सकता है। Realme बाद एक अन्य 5G फ़ोन iQOO 3 5G स्मार्टफ़ोन लांच किया गया।

5G

5G वायरलेस संचार टेक्नोलॉजी थर्ड जनरेशन पार्टनरशिप प्रोजेक्ट (3GPP) पर आधारित है। यह 4G LTE के बाद मोबाइल नेटवर्क टेक्नोलॉजी का अगला चरण है। 5G टेक्नोलॉजी में डाउनलोड व अपलोड स्पीड मौजूदा 4G नेटवर्क से 100 गुना तेज़ होगी। इससे इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स (IoT), ऑगमेंटेड रियलिटी (AR) और वर्चुअल रियलिटी (VR) को बढ़ावा मिलेगा।

दिसम्बर, 2017 में 3GPP ने 5G रेडियो मानक का पहला सेट पूरा किया था। 5G की तेज़ गति के कारण क्लाउड सिस्टम से संगीत आसानी से स्ट्रीम किया जा सकेगा, इससे बिना चालक वाले वाहन को आसानी से नेविगेशन डाटा उपलब्ध करवाया जा सकेगा। आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस और इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स के विकास में 5G की भूमिका काफी महत्वपूर्ण होगी।

वित्त मंत्री ने इज़ ऑफ़ बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिए लांच किया EASE 3.0

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairs26 फरवरी, 2020 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने EASE 3.0 (Enhanced Access and Service Excellence) लांच किया। इसे EASE 2.0 की वार्षिक रिपोर्ट के साथ लांच किया गया।

मुख्य बिंदु

EASE 3.0 का मुख्य उद्देश्य सार्वजनिक क्षेत्र की बैंकिंग तकनीक को सक्षम और स्मार्ट बनाना है। इस पहल का  द्वारा उद्देश्य ग्राहकों के लिए बैंकिंग में आसानी सुनिश्चित करना है। इसके साथ भारत सरकार ने ऋण स्वीकृत करते समय क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों पर सरकारी  बैंकों की अधिक निर्भरता के बारे में भी चेतावनी दी है।

EASE क्या है?

EASE प्रौद्योगिकी-आधारित बैंकिंग सुधारों का सेट है। इसका उद्देश्य प्रौद्योगिकी के साथ बैंकिंग क्षेत्र में सुधार लाना है। यह व्यापक वित्तीय समावेश, बेहतर बैंकिंग अनुभव और आसान ऋण वितरण सुनिश्चित करता है।

महत्व

इस पहल से  पेपरलेस और डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा मिलेगा। इसके द्वारा भारत सरकार की अन्य पहलों जैसे उद्यमी मित्र, क्रेडिट टेक-ऑफ, डायल-ए-लोन और क्रेडिट को भी बल मिलेगा। EASE सें सभी पहलों तक पहुंच बढ़ेगी और बैंकिंग क्षेत्र के मानकों में सुधार करेगा।

26 फरवरी को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की पुण्यतिथि के रूप में मनाया गया

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairs

26 फरवरी को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की पुण्यतिथि के रूप में मनाया गया।

विनायक दामोदर सावरकर (1883-1966)

  • विनायक दामोदर सावरकर को वीर सावरकर के नाम से जाना जाता था, उनका जन्म 28 मई, 1883 को महाराष्ट्र के नासिक में हुआ था।
  • वे एक स्वतंत्रता सेनानी थे, उन्होंने 1887 की क्रांति को स्वतंत्रता का प्रथम युद्ध कहा था।
  • हालांकि वे हिन्दू महासभा के संस्थापक नही थे, परन्तु वे 1937 से 1943 के बीच हिन्दू महासभा के अध्यक्ष रहे।
  • वीर सावरकर ने भारत को “हिन्दू राष्ट्र” के रूप में एक निर्मित किये जाने का समर्थन किया, उन्होंने राष्ट्रवादी राजनीतिक विचारधारा “हिंदुत्व” के विकास किया।
  • उनके सम्मान में अंडमान व निकोबार के पोर्ट ब्लेयर के हवाईअड्डे का नाम वीर सावरकर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा रखा गया है।28 मई को स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर की जन्म वर्षगाँठ के रूप में मनाया गया

विनायक दामोदर सावरकर जीवनी : हीरो या विलेन?

प्रो जेएस खंडेराव और वासुदेव कामथ को राजा रवि वर्मा पुरस्कार से सम्मानित किया गया

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairsवर्ष 2019 के लिए राजा रवि वर्मा राज्य पुरस्कार अनुभवी चित्रकार प्रो जेएस खंडेराव और वर्ष 2020 के लिए मुंबई के वरिष्ठ कलाकार, वासुदेव कामथ को प्रदान किया गया। 

प्रो जेएस खंडेराव को उनकी कला के लिए सम्मानित किया गया जो मानव संस्कृति के इतिहास को परिभाषित करता है क्योंकि कला मानवीय अभिव्यक्ति का एक रूप है। पेंटिंग आदिम काल के युगों की है। सदियों से कला के रूप में तेजी से परिवर्तन हुए हैं।
वासुदेव कामथ को उनकी अधिक अभिव्यंजक कला के लिए सम्मानित किया गया ।

राजा रवि वर्मा राज्य पुरस्कार:
राजा रवि वर्मा राज्य पुरस्कार की स्थापना कर्नाटक के श्री रविवर्मा कला संस्थान द्वारा की गई थी। यह पुरस्कार 10,000 रुपये का नकद पुरस्कार और एक प्रशस्ति पत्र प्रदान करता है।

महाराष्ट्र के सभी स्कूलों में अब मराठी को पढ़ाना अनिवार्य, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक

महाराष्ट्र के सभी स्कूलों में मराठी भाषा के विषय को अनिवार्य बनाने वाला विधेयक वीरवार को राज्य विधानसभा में बहुमत के साथ पारित हो गया है। इस विधेयक के मुताबिक, विधेयक का पालन न करने पर स्कूलों को भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है।

बिल प्रावधान:

  • विधेयक के अनुसार, सरकार से एनओसी लेने या प्राप्त करने के लिए एक स्कूल के लिए मराठी का अनिवार्य शिक्षण एक शर्त होगी।
  • विधेयक राज्य सरकार को किसी छात्र या किसी भी वर्ग के छात्रों को किसी भी या सभी प्रावधानों से छूट देने की अनुमति देगा।
  • राज्य सरकार का लक्ष्य 2020-21 में पांच वर्षों में सभी वर्गों को शामिल करना है
  • प्राथमिक में कक्षा 1 के लिए और द्वितीयक खंड में कक्षा 6 के लिए मराठी अनिवार्य होगी। नियम 2024-25 तक कक्षा 10 तक अनिवार्य होने तक अन्य ग्रेडों में उत्तरोत्तर बढ़ा दिया जाएगा।
  • इससे पहले, 2012 में, राज्य सरकार ने स्कूलों को कक्षा 8 तक मराठी पढ़ाने के लिए कहा था। इसे अब तक लागू नहीं किया गया था।

मनसुख मंडाविया ने चेन्नई में OPV-6 VAJRA लॉन्च किया

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairsनौवहन (स्‍वतंत्र प्रभार), रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री मनसुख मंडाविया ने गुरुवार को चेन्नई में छठे तटरक्षक अपतटीय गश्ती पोत (ओपीवी-6) ‘वज्र’ को लॉन्च किया। मंडाविया ने कहा कि यह भारतीय तटरक्षक बल के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है क्योंकि छठे ओपीवी को पहली बार समुद्र में उतारा जा रहा है, जिससे 20 लाख वर्ग किलोमीटर से अधिक बड़े विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) के 7500 किलोमीटर से अधिक विशाल समुद्र तट को सुरक्षित किया जा सकेगा।।

वज्र:

  • ‘मेक इन इंडिया’ नीति के तहत लॉन्च किया गया यह पोत सात ओपीवी परियोजनाओं की श्रृंखला में छठा है।
  • ओपीवी अल्ट्रा नेविगेशन तकनीक के साथ दो नेविगेशन रडार , अत्याधुनिक नेविगेशनल और नवीनतम संचार प्रणालियों से लैस है।

ISRO की तकनीक NavIC का इस्तेमाल करेगी शाओमी कंपनी

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairsस्मार्टफोन निर्माता कंपनी शाओमी इसरो की रीजनल नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम तकनीक नाविक का इस्तेमाल करेगी। यह तकनीक साल 2020 में आने वाले कंपनी के सभी स्मार्टफोन में उपयोग में लाई जाएगी। नेवीगेशन विद इंडियन कांस्टेलेशन (नाविक) के इस्तेमाल से किसी भी लोकेशन की सटीक जानकारी हासिल की जा सकेगी। इसके लिए क्वॉलकॉम टेक्नोलॉजी की तरफ से खासकर नाविक तकनीक को सपोर्ट देने के लिए क्वॉलकॉम मोबाइल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया जाएगा। साल 2020 में नाविक सपोर्ट तकनीक वाले शाओमी स्मार्टफोन कई प्राइस प्वाइंट में उपलब्ध रहेंगे।

नाविक के लिए 8 इंडियन रीजनल नेविगेशन सैटेलाइट काम कर रहे हैं

NavIC के लिए कुल 8 इंडियन रीजनल नेविगेशन सैटलाइट्स (IRNS) काम कर रहे हैं और लगातार लोकेशन से जुड़ा डेटा जुटा रहे हैं। GPS की तरह ही NavIC नेविगेशन सिस्टम भी ड्राइवर्स को विजुअल टर्न-बाइ-टर्न वॉइस इंस्ट्रक्शन भी देगा। बता दें, पिछले साल अप्रैल के बाद लॉन्च होने वाली सभी कमर्शल गाड़ियों में NavIC ट्रैकर्स अनिवार्य कर दिए गए हैं। ताइवान कंपनी SkyTraQ की ओर से इसरो के लिए मल्टीचिप मॉड्यूल (MCM) डिवेलप होने के बाद अब 30 से ज्यादा कंपनियां भारत में गाड़ियों के लिए NavIC ट्रैकर्स तैयार कर रही हैं।

सरकार ने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध हटाया, किसानों को होगा फायदा

सरकार ने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध हटाने का फैसला किया क्योंकि प्याज की कीमत स्थिर हो गई है। इस कदम से किसानों के हितों की रक्षा होगी क्योंकि बंपर रबी फसल के कारण कीमतों में तेजी से गिरावट आने की संभावना है। गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में मंत्रियों के समूह (जीओएम) की बैठक में इस फैसले को मंजूरी दी गई । प्याज पर प्रतिबंध के प्रभावी होने की उम्मीद है। जीओएम इस बात पर भी चर्चा करेगा कि आउटबाउंड शिपमेंट की सुविधा के लिए प्याज पर न्यूनतम निर्यात मूल्य (एमईपी) को कम करना या स्क्रैप करना है या नहीं।

पृष्ठभूमि:
सितंबर 2019 में, GoI ने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया और आपूर्ति-मांग बेमेल होने के कारण 850 डॉलर प्रति टन का एमईपी लगाया। महाराष्ट्र सहित प्रमुख उत्पादक राज्यों में अत्यधिक बारिश और बाढ़ के कारण प्याज की कमी हुई। प्याज की रबी फसल की आवक शुरू हो गई है और मार्च के मध्य से बढ़ जाएगी।
मार्च में होने वाली मासिक फसल 40 लाख मीट्रिक टन और अप्रैल में 86 लाख टन से अधिक है, जबकि 2019 में 28.4 लाख मीट्रिक टन थी।

नोट: न्यूनतम निर्यात मूल्य वह दर है जिसके नीचे कोई निर्यात की अनुमति नहीं है।

नई दिल्ली में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर RAISE 2020 सम्मेलन का किया जाएगा आयोजन

भारत सरकार ने 11-12 अप्रैल को नई दिल्ली में शिखर सम्मेलन RAISE 2020- ‘Responsible AI for Social Empowerment 2020 (सामाजिक सशक्तिकरण के लिए उत्‍तरदायी कृत्रिम बुद्धिमत्‍ता-2020) आयोजित करने की घोषणा की है। RAISE 2020 सरकार द्वारा उद्योग और शिक्षा जगत के साथ मिलकर आयोजित किया जाने वाला भारत का पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस शिखर सम्मेलन है।

इस शिखर सम्मेलन में दुनिया भर के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्षेत्र के विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे। यह एआई के सामाजिक सशक्तीकरण, परिवर्तन और समावेशन और कृषि, स्वास्थ्य सेवा, स्मार्ट गतिशीलता और शिक्षा जैसे अन्य प्रमुख क्षेत्रों में इस्तेमाल पर फोकस होगा। एआई को सामाजिक परिवर्तन में लागू करना आवश्यक है क्योंकि यह नियामक परिवर्तनों को लाने में मदद करेगा। साथ ही यह कार्यस्थलों की दक्षता में सुधार लाएगा।

उपरोक्त समाचार से सभी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री और पृथ्वी विज्ञान मंत्री: हर्षवर्धन

भारत दौरे पर आए म्यांमार के राष्ट्रपति

म्यांमार के राष्ट्रपति विन म्यिंट अपनी पत्नी, फर्स्ट लेडी, डॉव चो चो के साथ 26 फरवरी को भारत पहुंचे। राजकीय यात्रा 26-29 फरवरी तक होगी। विदेश मंत्रालय (MEA) ने यह जानकारी दी।

एजेंडा:
– म्यांमार के राष्ट्रपति नई दिल्ली में उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल की कई आधिकारिक बैठकें करेंगे।
– विन माइंट से आगरा और बोधगया आने की भी उम्मीद की जाएगी।
– प्रधान मंत्री ने 2019 में प्रधान मंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी के दूसरे शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए भारत का दौरा किया था।

आयुष शब्दावली के मानकीकरण पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन International Conference on Standardization of AYUSH Terminologies

Ayush-Terminologiesआयुर्वेद, यूनानी और सिद्ध चिकित्सा पद्धति एवं शब्दावली के मानकीकरण पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन (International Conference on Standardisation of Diagnosis and Terminologies in Ayurveda, Unani and Siddha Systems- ICoSDiTAUS-2020) का 26 फरवरी, 2020 को नई दिल्ली में समापन हुआ।

आयोजन:

इस सम्मेलन का आयोजन नई दिल्ली में 25-26 फरवरी, 2020 के दौरान आयुष मंत्रालय (Ministry of AYUSH) और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था।

सम्मेलन में शामिल देश

इस सम्मेलन में पारंपरिक चिकित्सा (Traditional Medicine) को महत्त्व देने वाले श्रीलंका, मॉरीशस, सर्बिया, कुराकाओ, क्यूबा, म्याँमार, इक्वेटोरियल गिनी, कतर, घाना, भूटान, उज़्बेकिस्तान, भारत, स्विट्ज़रलैंड, ईरान, जमैका और जापान समेत 16 देशों ने भाग लिया।

मुख्य बिंदु:

  • ICoSDiTAUS-2020 अब तक के सभी महाद्वीपों को कवर करने वाली व्यापक स्तर की भागीदारी के संदर्भ में पारंपरिक चिकित्सा के निदान एवं शब्दावली के मानकीकरण के लिये समर्पित सबसे मुख्य अंतर्राष्ट्रीय पहल है।
  • इस सम्मेलन में सभी देशों द्वारा पारंपरिक चिकित्सा निदान डेटा के संग्रह और वर्गीकरण पर नई दिल्ली घोषणा (New Delhi Declaration on Collection and Classification of Traditional Medicine (TM) Diagnostic Data) को अपनाया गया।
  • नई दिल्ली घोषणा में स्वास्थ्य देखभाल के एक महत्त्वपूर्ण क्षेत्र के रूप में पारंपरिक चिकित्सा के लिये देशों की प्रतिबद्धता पर ज़ोर दिया गया।
    इस सम्मेलन में आयुर्वेद, यूनानी एवं सिद्ध जैसे पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों को भविष्य में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अंतर्राष्ट्रीय वर्गीकरण में शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है।

दुनिया भर में आज मनाया गया विश्व एनजीओ (NGO) दिवस

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairsविश्व स्तर पर 27 फरवरी को विश्व एनजीओ (NGO) दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाए जाने का उद्देश्य गैर-सरकारी संगठन (Non-Governmental Organisation) क्षेत्र के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। यह दिवस हर साल दुनिया भर के उन लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है ,जिन्होंने समर्पित होकर अच्छे कार्यों में योगदान दिया। साथ ही यह दिन दुनिया भर में मौजूद सभी क्षेत्रों के गैर सरकारी संगठनों की उपलब्धियों और सफलता की हाइलाइट करता है। यह दिन समाज में गैर-सरकारी संगठनों की भूमिका के महत्व को दर्शाता है।

NGO दिवस का इतिहास:-

विश्व एनजीओ दिवस मनाए जाने विचार 2009 में कानून के एक छात्र मार्किस लियर्स स्काडमैनिस ने किया था। जिसे मनाए जाने की आधिकारिक रूप से घोषणा 17 अप्रैल 2010 को 12 देशों द्वारा की गई थी। इसे संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) द्वारा 27 फरवरी 2014 को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दी गई थी।

उपरोक्त समाचार से सभी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम मुख्यालय: न्यूयॉर्क, अमेरिका.
संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम प्रमुख: अचिम स्टेनर
संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम स्थापित: 22 नवंबर 1965.

गैर सरकारी संगठन:
एनजीओ एक गैर-लाभकारी संघ है जो स्वतंत्र है। यह एक राज्य या एक अंतरराष्ट्रीय संस्था नहीं है। गैर-सरकारी संगठन अंतर्राष्ट्रीय विकास, सहायता और परोपकार में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

केंद्रीय कैबिनेट ने सरोगेसी रेग्युलेशन बिल को दी मंजूरी, सरोगेट मदर को लेकर बड़ा बदलाव

केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को सरोगेसी रेगुलेशन बिल 2020 के मसौदे को मंजूरी दे दी। प्रस्तावित बिल के मुताबिक, कोई भी महिला अपनी इच्छा से सरोगेट मां बन सकेगी। निसंतान जोड़ों के अलावा विधवा और तलाकशुदा महिलाओं को भी इसका फायदा मिलेगा।

नए बिल में क्या खास होगा

  • केंद्र में नेशनल सरोगेसी बोर्ड और राज्यों में स्टेट सरोगेसी बोर्ड बनाने का प्रावधान किया गया है। अलग-अलग स्तर पर बनाए जाने वाले ये बोर्ड ही सरोगेसी की प्रक्रिया की निगरानी करेंगे। केंद्र शासित प्रदेशों में भी इसके लिए सक्षम अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी। 
  • सरोगेट मदर के लिए बीमा कवर की अवधि को बढ़ाकर 36 महीने कर दिया गया है। पिछले विधेयक में बीमा कवर का समय 16 महीने निर्धारित किया गया था।
  • व्यावसायिक सरोगेसी पर प्रतिबंध होगा और इसके प्रचार प्रसार पर भी रोक लगाने की सिफारिश की गई है। नए विधेयक के मुताबिक कोई भी विदेशी व्यक्ति भारत में सरोगेसी के जरिए बच्चे पैदा नहीं कर सकेगा।
  • भारतीय विवाहित जोड़े, विदेश में रहने वाले भारतीय मूल के विवाहित जोड़े और अकेली भारतीय महिलाएं कुछ शर्तों के अधीन सरोगेसी का फायदा उठा सकेंगी। हालांकि अकेली महिलाओं की स्थिति में उनका विधवा या तलाकशुदा होना जरूरी होगा। साथ ही उनकी उम्र 35 से 45 साल के बीच होनी चाहिए।

वैज्ञानिक पहले ऐसे जानवर की खोज करते हैं जिसे सांस लेने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत नहीं होती है

Today's current affairs in hindi : 27 Feb 2020 | Daily current affairsतेल अवीव विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक अनोखे जीव की खोज की है जिसे सांस लेने की जरूरत नहीं है। हेनेगुया सैल्मिनिसोला, छोटा परजीवी, पहला ज्ञात बहुकोशिकीय जानवर है जो ऑक्सीजन के बिना जीवित रह सकता है। यह एक अवायवीय वातावरण में रहता है। परजीवी सैल्मन टिश्यू में रहता है और विकसित होता है ताकि उसे ऊर्जा पैदा करने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत न पड़े। शोधकर्ताओं ने हेनेगुया जीनोम का अनुक्रमण करते हुए गलती से खोज की ।

हेन्नेग्या सालमिनिकोला:
H. salminicola जेलिफ़िश और कोरल का एक रिश्तेदार है। यह सामन के मांसपेशी ऊतक के भीतर रहता है । यह अपेक्षाकृत हानिरहित है। यह दूधिया मांस या टैपिओका जैसी बीमारियों का कारण बनता है, जिसका नाम सफेद तरल पदार्थ से भरा अल्सर है जो मछली में इसका कारण बनता है। परजीवी में माइटोकॉन्ड्रियल जीन की कमी होती है। माइटोकॉन्ड्रिया कोशिका का पावरहाउस है। यह एरोबिक श्वसन के माध्यम से ऊर्जा बनाने के लिए ऑक्सीजन को पकड़ता है।
शोधकर्ता अभी भी यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि वास्तव में परजीवी ऊर्जा का उत्पादन कैसे करता है। यह संदेह है कि परजीवी आसपास की मछली की कोशिकाओं से ऊर्जा खींच सकता है, या इसमें एक अलग प्रकार की श्वसन हो सकती है जैसे कि ऑक्सीजन मुक्त श्वास, जो आमतौर पर अवायवीय गैर-पशु जीवों की विशेषता है।

Hindi Current Affairs  : 26 Feb 2020

Hindi Current Affairs  : 25 Feb 2020

Hindi Current Affairs  : 24 Feb 2020

Hindi Current Affairs  : 23 Feb 2020

Hindi Current Affairs : 22 Feb 2020

Hindi Current Affairs : 21 Feb 2020

Hindi Current Affairs : 20 Feb 2020

Hindi Current Affairs  : 19 Feb 2020

I hope, this article about 27 February 2020 Current Affairs in Hindi | 27 फरवरी 2020 करेंट अफेयर्स | GKTodayJobAlert in Hindi is very informative for you.

If you liked this article please follow us on Facebook and Twitter.

Share Now “Sharing is Caring”

Check Out  Today's current affairs in hindi : 10 Mar 2020 | Daily current affairs

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.