Todays Hindi Current Affairs/ News Headlines :11 Feb 2020

NOTE : Today’s Top Hindi Current Affairs/ News Headlines :11 Feb 2020. यूपीएससी, एसएससी, बैंक, रेलवे सहित केंद्र एबं राज्य सरकारों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगिता परीक्षा के लिए उपयोगी

दिन के शीर्ष करंट अफेयर्स: 11 फरवरी 2020. तुरंत सभी आवश्यक जानकारी के साथ नवीनतम करेंट अफेयर्स प्राप्त करें, आज के सभी मौजूदा मामलों को जानने के लिए पहले बनें 11 फरवरी 2020 शीर्ष समाचार, प्रमुख मुद्दे, वर्तमान समाचार, राष्ट्रीय वर्तमान समाचारों में महत्वपूर्ण घटनाएं स्पष्ट स्पष्टीकरण के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं और साक्षात्कारों के लिए, अपने आप को नवीनतम करंट अफेयर्स  से update करें।

Todays Hindi Current Affairs/ News Headlines :11 Feb  2020

Table of Contents

Today’s Top Hindi Current Affairs/ News Headlines 

1. अजेय वारियर : भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच किया जाएगा संयुक्त सैन्य अभ्यास का आयोजन

भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच 13 फरवरी से संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘अजेय वारियर’ का आयोजन किया जाएगा। इस अभ्यास का आयोजन 2005 से किया जा रहा है।

मुख्य बिंदु

इस अभ्यास में 120 सैनिक हिस्सा लेंगे। यह इस अभ्यास का पांचवां संस्करण है। इस अभ्यास का आयोजन सेलिस्बरी प्लेन्स में किया जाएगा।

सेलिस्बरी प्लेन्स चाक पठार में स्थित है। इसे स्टोनहेंज नामक पुरातत्व स्मारक के लिए जाना जाता है।

अन्य अभ्यास

भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच 2004 से ‘कोंकण अभ्यास’ का नामक संयुक्त नौसैनिक अभ्यास का आयोजन किया जा रहा है। जबकि 2006 से दोनों देशों के बीच इंद्र धनुष अभ्यास का आयोजन किया जा रहा है। यह एक संयुक्त हवाई अभ्यास  है ।

भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच रक्षा सम्बन्ध सीमित है। भारत ने यूनाइटेड किंगडम से 123 हॉक एडवांस्ड जेट ट्रेनर एयरक्राफ्ट लिए हैं।

2. मुंबई में किया जायेगा जेरूसलम-मुंबई फेस्टिवल का आयोजन

मुंबई में 15 फरवरी, 2020 से जेरूसलम-मुंबई फेस्टिवल का आयोजन किया जाएगा। इस उत्सव का उद्देश्य भारत और इजराइल के बीच सांस्कृतिक संबंधों को मज़बूत बनाना है।

मुख्य बिंदु

इस उत्सव के माध्यम से मुंबई और जेरूसलम शहर को आपस में सांस्कृतिक तौर पर जोड़ा जाएगा। यह विचार जुलाई, 2019 में प्रधानमंत्री मोदी की इजराइल यात्रा के दौरान प्रस्तुत किया गया था। इससे दोनों देश के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा मिलेगा। इस फेस्टिवल के मुख्य बिंदु संगीत, पाक कला व नृत्य इत्यादि हैं। इजराइल ने चेक गणराज्य, बेल्जियम और रूस के साथ इस तरह की कई पहलें शुरू की हैं।

इजराइल-फिलिस्तीन

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच सीमा को लेकर काफी विवाद है। परन्तु भारत ने दोनों देशों के साथ अच्छे सम्बन्ध कायम किये हैं। भारत दोनों देशों के बीच शान्तिपूर्वक समस्या का समाधान करने के पक्ष में है।

3. 11 फरवरी : विज्ञान में महिलाओं व बालिकाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

प्रतिवर्ष को 11 फरवरी को विज्ञान में महिलाओं व बालिकाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिवर्ष 2015 से मनाया जा रहा है।  इसका उद्देश्य विज्ञान व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका पर प्रकाश डालना है।

मुख्य बिंदु

इस दिवस को संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व भर में विज्ञान व प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महिलाओं को बढ़ावा देने वाले संगठनों के साथ मिलकर मनाया जाता है।

Theme: Investment in Women and Girls in Science for Inclusive Green Growth (समावेशी विकास के लिए विज्ञान में महिलाओं व बालिकाओं  में निवेश)

महिलाओं व बालिकाओं को विज्ञान व प्रौद्योगिकी क्षेत्र में बढ़ावा देना अति आवश्यक है। वर्तमान में विश्व में महिलाओं अनुसंधानकर्ता केवल 30% है। STEM (Science, Technology, Engineering and Mathematics) क्षेत्र में महिलाओं की हिस्सेदारी पुरुषों की अपेक्षा कम है।

4. भुबनेश्वर में शुरू हुआ बिम्सटेक NDRF आपदा प्रबंधन अभ्यास

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF) द्वारा द्वितीय बिम्सटेक आपदा प्रबंधन अभ्यास-2020 (BIMSTEC DMEx-2020) का आयोजन ओडिशा के भुबनेश्वर में किया जा रहा है। इस अभ्यास का आयोजन 11 फरवरी, 2020 से 13 फरवरी, 2020 के बीच किया जा रहा है।

इस अभ्यास में बाढ़, भूकंप और तूफ़ान के दौरान आपदाओं के लिए मौजूदा आपातकालीन प्रक्रियाओं का परीक्षण किया जायेगा।  इस अभ्यास में आपदाओं के कारण क्षतिग्रस्त धरोहर स्थलों के जीर्णोंधार पर भी बल दिया जाएगा।

Theme: A Cultural Heritage Site that suffers severe damage in the Earthquake and Flooding or Storm

इस अभ्यास में बांग्लादेश, भारत, म्यांमार, श्रीलंका और नेपाल हिस्सा ले रहे हैं। इस अभ्यास में दो बिम्सटेक देश थाईलैंड और भूटान इस बार हिस्सा नहीं ले रहे हैं।

बिम्सटेक (Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral, Technical and Economic Cooperation)

बिम्सटेक दक्षिण एशिया तथा दक्षिण पूर्वी एशिया के 7 देशों का समूह है, जो बंगाल के खाड़ी के निकट स्थित हैं। बिम्सटेक की स्थापना 6 जून, 1997 को बैंकाक घोषणा के द्वारा की गयी थी। बिम्सटेक का मुख्यालय बांग्लादेश की राजधानी ढाका में स्थित है।

बिम्सटेक के सदस्य देश भारत, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड हैं। इन सभी देशों की जनसँख्या लगभग 1.5 अरब है जो कि विश्व की कुल जनसँख्या का 22% है।

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF)

NDRF आपदा के समय त्वरित क्रिया करने वाला बल है, इसकी स्थापना वर्ष 2006 में आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के अंतर्गत की गयी थी। NDRF का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। यह केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करता है। NDRF के लिए नीति, योजना तथा दिशानिर्देश का निर्माण राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) द्वारा किया जाता है।

NDRF प्राकृतिक आपदा, मानव निर्मित आपदा, दुर्घटना अथवा आपातकाल के दौरान राहत व बचाव कार्य करता है। इस दौरान जान-माल की रक्षा के लिए NDRF स्थानीय एजेंसियों के साथ मिलकर कार्य करता है। वर्तमान में NDRF की 12 बटालियन देश के अलग-अलग हिस्सों में नियुक्त की गयी हैं।

5. अमेरिका ने भारत को एकीकृत हवाई रक्षा हथियार प्रणाली बेचने के लिए मंज़ूरी दी

11 फरवरी, 2020 को अमेरिका ने भारत को एकीकृत हवाई रक्षा हथियार प्रणाली बेचने के लिए मंज़ूरी दी, इस प्रणाली की लागत लगभग 1.86 अरब डॉलर है।

मुख्य बिंदु

भारत अपने रक्षा बलों के आधुनिकीकरण के लिए अमेरिका से Integrated Air Defence Weapon System (IADWS) खरीदना चाहता है। इससे भारत को हवाई हमले का सामना करने में आसानी होगी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 23-26 फरवरी, 2020 को भारत की यात्रा पर आयेंगे। राष्ट्रपति ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान इस सौदे को सील किया जा सकता है।

Integrated Air Defence Weapon System (IADWS) में हवाई रक्षा हथियार प्रणाली, AMRAAM मिसाइल, NASAMS-II, सतह से हवा में मार कर सकने वाली मिसाइल, राडार इत्यादि शामिल हैं।

NASAMS-II

NASAMS-II (National Advanced Surface-to-Air Missile System)  का विकास अमेरिका द्वारा नॉर्वे के साथ मिलकर किया गया है। NASAMS-II नॉर्वे के NASAMS (Norwegian Advanced Surface to Air Missile System) का अपग्रेडेड संस्करण हैं।

महत्व

यह भारत की हथियार प्रणाली के आधुनिकरण के लिए अत्यंत आवश्यक है। क्योंकि चीन बड़े पैमाने पर सेना के आधुनिकरण पर बल दे रहा है। इसके अलावा चीन लगातार हिन्द महासागर क्षेत्र में अपनी उपस्थति को बढ़ाने का प्रयास कर रहा है।

6. 2018-19 में बीएसएनएल, एयर इंडिया और MTNL सबसे ज्यादा घाटे में रहने वाली सरकारी कंपनियां रहीं : सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण

10 फरवरी, 2020 को केन्द्रीय भारी उद्योग मंत्रालय के अधीन सार्वजनिक उद्यम विभाग ने ‘सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण’ को प्रस्तुत किया। इस रिपोर्ट के अनुसार पिछले वर्ष के मुकाबले सार्वजनिक उद्यमों के शुद्ध लाभ में 15.5% की वृद्धि हुई है।

मुख्य बिंदु

2018-19 में बीएसएनएल, एयर इंडिया और MTNL सबसे ज्यादा घाटे में रहने वाली सरकारी कंपनियां रहीं। यह कंपनियां पिछले तीन वर्षों से लगातार घाटे में चल रहीं हैं। इस सर्वेक्षण के अनुसार ONGC, NTPC और इंडियन आयल कारपोरेशन सबसे ज्यादा लाभ कमाने वाली सरकारी कंपनियां रही। 2018-19 में केन्द्रीय सार्वजनिक उद्यमों से प्राप्त होने वाली आय 20 लाख करोड़ रुपये थी। जबकि उससे पिछले वर्ष यह आय 20 लाख करोड़ रुपये थी।

देश में कुल 348 केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम है। इनमें 249 ऑपरेशनल हैं, जबकि 13 उद्यमों को बंद किया जा रहा है अथवा इनका परिसमापन किया जा रहा है। जबकि 86 उद्यमों का विकास किया जा रहा है।

7. राष्ट्रीय जल सम्मेलन मध्य प्रदेश में आयोजित किया गया

राष्ट्रीय जल सम्मेलन भोपाल, मध्य प्रदेश में आयोजित किया गया था। देश के जाने-माने जल विशेषज्ञों ने बढ़ते जल संकट पर चिंता व्यक्त की है । सम्मेलन का उद्घाटन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किया था।

8. वन्य जीवों के प्रवासी प्रजाति के संरक्षण पर कन्वेंशन  CPO -13 की मेजबानी करेगा  भारत

COP-13भारत वन्यजीवों के प्रवासी प्रजाति (CMS) के संरक्षण पर कन्वेंशन के 13 वें सम्मेलन (CPO-13) की मेजबानी कर रहा है । यह सम्मेलन 17-22 फरवरी 2020 के दौरान गुजरात के गांधीनगर में आयोजित किया जाएगा। केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने नई दिल्ली में घोषणा की।

Check Out  Today's current affairs in hindi : 12 Apr 2020 | Daily current affairs

THEME: “Migratory species connect the planet and we welcome them home
CMS COP13 का विषय “प्रवासी प्रजातियां ग्रह को जोड़ती हैं और हम उनका घर में स्वागत करते हैं”। CMS CPO-13 का लोगो दक्षिणी भारत के पारंपरिक कला रूप ‘कोलम’ से प्रेरित है। लोगो में कोलम आर्ट फॉर्म का उपयोग भारत में प्रमुख प्रवासी प्रजातियों जैसे कि अमूर फाल्कन, हम्पबैक व्हेल और समुद्री कछुओं को चित्रित करने के लिए किया जाता है।

130 से अधिक देशों के प्रतिनिधि, वन्यजीव संरक्षण के क्षेत्र में काम करने वाले संरक्षणवादी और अंतर्राष्ट्रीय गैर सरकारी संगठन CPO-13 में शामिल होंगे।

9. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप भारत दौरे पर आने वाले हैं 

Trump, President, America, Politicsअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 24-25 फरवरी को भारत आने वाले हैं। श्री ट्रम्प और प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प अहमदाबाद और नई दिल्ली का दौरा करेंगे । अहमदाबाद को गुजरात के दौरे के लिए चुना गया था, क्योंकि यह प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का घर है और इसने महात्मा गांधी के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

लिहाजा राष्‍ट्रपति ट्रंप ऐसे सातवें अमेरिकी राष्‍ट्रपति हैं जो भारत दौरे पर आ रहे हैं। आपको ये भी बता दें कि ओबामा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 में राष्‍‍‍‍‍‍‍ट्रपति ट्र्रंप को गणतंत्र दिवस पर मुख्‍य अतिथी बनाने की कोशिश की गई थी, लेकिन ट्रंप की व्‍यस्‍तता के चलते ये संभव नहीं हो सका था।

AGENDA: अमेरिका राष्‍ट्रपति यहां पर गुजरात में एक कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे जिसको ‘केमछो ट्रंप’ (Kem Cho, Trump! Howdy Trump)) का नाम दिया गया है। यह कार्यक्रम ‘हाउडी मोदी’ (Howdy Modi) की तर्ज पर ही आयोजित किया गया है। ट्रंप के इस दौरे में भारत और अमेरिका के बीच कुछ रक्षा सौदों पर मुहर भी लगेगी।

Check Out  Today's Hindi Current Affairs/ News Headlines : 16 Feb 2020

10. GoI ने राष्ट्रीय वित्तीय प्रबंधन संस्थान (NIFM), फरीदाबाद का नाम बदलकर अरुण जेटली राष्ट्रीय वित्तीय प्रबंधन संस्थान (AJNIFM) करने का निर्णय लिया है।

सरकार ने राष्ट्रीय वित्तीय प्रबंधन संस्थान (NIFM), फरीदाअरुण जेटली राष्ट्रीय वित्तीय प्रबंधन संस्थान (AJNIFM)बाद का नाम बदलकर अरुण जेटली नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंशियल मैनेजमेंट (AJNIFM) करने का निर्णय लिया है।

NIFM:
NIFM, फरीदाबाद को 1993 में स्थापित किया गया थासंस्था का मुख्य उद्देश्य संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा भर्ती किए गए विभिन्न वित्त और लेखा सेवाओं के अधिकारियों को सिविल सेवा परीक्षा (CSE) के माध्यम से भारतीय लागत लेखा सेवा (ICoAS) के अधिकारियों के रूप में प्रशिक्षित करना है। केंद्रीय वित्त मंत्री NIFM सोसायटी के अध्यक्ष हैं। यह राज्य सरकारों, रक्षा प्रतिष्ठानों, बैंकों, अन्य वित्तीय संस्थानों और सार्वजनिक उपक्रमों को भी पूरा करता है।

स्वर्गीय श्री अरुण जेटली:
स्वर्गीय श्री अरुण जेटली पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और पद्म विभूषण से सम्मानित थे उन्होंने 26 मई 2014 से 30 मई 2019 की अवधि के दौरान केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री के रूप में कार्य किया। उन्होंने वस्तु और सेवा कर (GST) की शुरूआत का निरीक्षण किया, जिसने देश को एक कर व्यवस्था के तहत लाया। आम बजट के साथ रेल बजट का विलय उनकी देखरेख में हुआ था। उन्होंने इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड भी पेश किया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.