Todays Hindi Current Affairs/ News Headlines :12 Feb 2020

NOTE : Today’s Top Hindi Current Affairs/ News Headlines :12 Feb 2020. यूपीएससी, एसएससी, बैंक, रेलवे सहित केंद्र एबं राज्य सरकारों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगिता परीक्षा के लिए उपयोगी

दिन के शीर्ष करंट अफेयर्स: 12 फरवरी 2020. तुरंत सभी आवश्यक जानकारी के साथ नवीनतम करेंट अफेयर्स प्राप्त करें, आज के सभी मौजूदा मामलों को जानने के लिए पहले बनें 12 फरवरी 2020 शीर्ष समाचार, प्रमुख मुद्दे, वर्तमान समाचार, राष्ट्रीय वर्तमान समाचारों में महत्वपूर्ण घटनाएं स्पष्ट स्पष्टीकरण के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं और साक्षात्कारों के लिए, अपने आप को नवीनतम करंट अफेयर्स  से update करें।

NEWS HEADLINES

Table of Contents

Today’s Top Hindi Current Affairs/ News Headlines 

11 फरवरी : विश्व यूनानी दिवस

विश्व यूनानी दिवस प्रतिवर्ष 11 फरवरी को मनाया जाता है, इसे यूनानी शोधकर्ता हकीम अजमल खान की जन्म वर्षगांठ के अवसर पर मनाया जाता है। वे एक यूनानी विशेषज्ञ थे। यूनानी दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में आयुष मंत्रालय द्वारा यूनानी औषधि पर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

यूनानी औषधि प्रणाली

यह एक किस्म की पर्शियन-अरबी पारंपरिक औषधि प्रणाली है। इसका उपयोग मुगलकालीन भारत में किया गया, इसके अतिरिक्त दक्षिण एशियाई तथा मध्य एशिया में भी यूनानी चिकित्सा पद्धति का उपयोग किया जाता है। इस चिकित्सा पद्धति का आरंभ यूनान में हुआ था। हिप्पोक्रेट्स को इस चिकित्सा पद्धति का जनक माना जाता है। भारत में इस चिकित्सा पद्धति की शुरुआत 13वीं शताब्दी में दिल्ली सल्तनत की स्थापना के साथ हुई थी।

उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने भूमिगत जल अधिनियम, 2020 को मंज़ूरी दी

11 फरवरी, 2020 को उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में  भूमिगत जल अधिनियम, 2020 को मंज़ूरी दी। इस अधिनियम का उद्देश्य भूमिगत जल के स्तर में सुधार करना है।

अधिनियम की विशेषताएं

इस अधिनियम के तहत जलमग्न पंप (submersible pumps) का पंजीकरण अनिवार्य किया जाएगा। इन पंप के लिए उपयोग के लिए किसानों तथा घरेलु उपयोगकर्ताओं को फीस अदा करने की आवश्यकता नहीं होगी। इस अधिनियम के तहत सभी निजी स्कूलों व महाविद्यालयों में वर्षा जल संग्रहण (rain water harvesting) अनिवार्य किया जायेगा।

इस अधिनियम में बोरिंग पाइप के द्वारा भूमिगत जल को प्रदूषित करने वाले लोगों के लिए दंड का प्रावधान भी है। इसके अलावा बोरिंग कंपनियों को अनिवार्य रूप से पंजीकरण भी करना होगा तथा उन्हें प्रत्येक तीन माह के बाद अपनी जानकारी अपडेट करवानी होगी।

Check Out  Today's current affairs in hindi : 16 Apr 2020 | Daily current affairs

भारत में भूमिगत जल

भारतीय में भूमिगत जल (भूजल) को मॉनिटर करना अति आवश्यक है। संसद समिति रिपोर्ट, 2016 के अनुसार भारत के 9 राज्यों ने 90% भूमिगत जल का उपयोग कर लिया है जबकि इसे रीचार्ज करने के लिए पर्याप्त प्रयास नही किये गये हैं। इसके अलावा भूमिगत जल में आर्सेनिक, यूरेनियम और आयरन की मौजूदगी लगातार बढ़ रही है।

गुलमर्ग में किया जाएगा राष्ट्रीय शीतकालीन खेलों का आयोजन

राष्ट्रीय शीतकालीन खेलों का आयोजन जम्म-कश्मीर के गुलमर्ग में किया जाएगा। इन खेलों का आरम्भ 7 मार्च को होगा, यह खेल स्पर्धा पांच दिन तक चलेगी। इन खेलों का आयोजन खेलो इंडिया के तहत किया जा रहा है।

मुख्य बिंदु

पर्यटन विभाग इस इवेंट के बारे में रोडशो के माध्यम से जागरूकता उत्पन्न करेगा। इस इवेंट में लगभग 30 स्पर्धाओं का आयोजन किया जाएगा। इसमें स्नो स्कींग, स्नोबोर्डिंग, स्नो शो तथा क्रॉस कंट्री श्रेणियों में खेलों का आयोजन किया जाएगा।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स

केन्द्रीय खेल मंत्रालय ने खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के दायरे को बढ़ाकर बड़ा कर दिया है, इन खेलों में अब दो श्रेणियों, अंडर 17 और अंडर 21 में प्रतिभागी हिस्सा ले सकते हैं। इसमें कॉलेज और विश्वविद्यालय के खिलाड़ी भी हिस्सा ले सकते हैं। इन खेलों में 29 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों से 10,000 से अधिक खिलाड़ी हिस्सा ले सकते हैं।

खेलो इंडिया कार्यक्रम

इसकी शुरुआत केन्द्रीय खेल व युवा मामले मंत्रालय द्वारा देश में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए की थी। इसका उद्देश्य देश  में खेले जाने वाले सभी खेलों को बढ़ावा देना तथा भारत को एक मज़बूत खेल राष्ट्र के रूप में तैयार करना है। इस कार्यक्रम से युवा खिलाड़ियों को अपने कौशल को बेहतर करने तथा अपने कौशल का प्रदर्शन करने का मौका मिलेगा। इन खेलों में प्रतिभावान खिलाड़ियों को चिन्हित किया जाये

यूपीएससी ने सिविल सेवा परीक्षा 2020 के लिए जारी की नोटिफिकेशन

संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा 2020 के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दी है। इच्छुक अभ्यर्थी 3 मार्च, 2020 तक सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए upsc.gov.in तथा upsconline.nic.in आधिकारिक वेबसाइट से आवेदन किया जा सकता है। इस बार संघ लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक सेवा परीक्षा का आयोजन 31 मई को किया जाएगा।UPSC Civil Services (Prelims) Recruitment 2020 – READ NOTIFICATION

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC)

यूपीएससी वह संवैधानिक निकाय है, जो भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और अन्य विभिन्न सेवाओं के लिए प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है. इसकी स्थापना भारतीय संविधान के अनुच्छेद 315 के तहत की गयी है। इसमें एक अध्यक्ष और दस अन्य सदस्य शामिल होते हैं, जिनकी नियुक्ति और पदच्युति राष्ट्रपति द्वारा की जाती है। आयोग के अध्यक्ष और सदस्य छह साल की अवधि तक अथवा 65 साल की उम्र पूरी होने तक अपने पद के कर्तव्यों का पालन करते है। संविधान का अनुच्छेद 316 सदस्यों की नियुक्ति और उनके कार्यालय की अवधि से संबंधित है।

Check Out  Today's current affairs in hindi : 13 Apr 2020 | Daily current affairs

BARC ने विकसित किया नया बुलेटप्रूफ जैकेट ‘भाभा कवच’

भाभा परमाणु अनुसन्धान केंद्र (BARC) ने ‘भाभा कवच’ नाम से एक नए बुलेटप्रूफ जैकेट का निर्माण किया है, इस जैकेट का उपयोग केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) द्वारा किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

CISF को शुरुआत में पांच बुलेटप्रूफ जैकेट दिए गये। इस जैकेट का भार 6.8 किलोग्राम है। यह लेवल-3 प्लस श्रेणी का सबसे हल्का जैकेट है। इस जैकेट का निर्माण कार्बन नैनोट्यूब और हॉट-प्रेसड कार्बाइड टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया है।

इस जैकेट के बाद भारत के बुलेटप्रूफ जैकेट के आयात में कमी आएगी तथा मेक इन इंडिया पहल को भी बल मिलेगा। इस जैकेट को भारतीय मानक ब्यूरो और राष्ट्रीय न्याय संस्थान  द्वारा मान्यता दी गयी है।

यह जैकेट AK-47 की स्टील बुलेट, सेल्फ-लोडिंग राइफल और बोल्ट एक्शन राइफल की गोलियों को रोकने में सक्षम है। यह जैकेट अन्य जैकेट के मुकाबले काफी हल्का है, अन्य बुलेट प्रूफ जैकेट का भार लगभग 17 किलोग्राम है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने इन जैकेट का उपयोग केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों द्वारा किये जाने को मंज़ूरी दी। इन जैकेट का उत्पादन बड़े पैमाने पर ऑर्डनेन्स फैक्ट्री और MIDHANI (Mishra Dhatu Nigam Limited) द्वारा किया जाएगा।

कैबिनेट ने मत्स्य पालन के क्षेत्र में भारत और आइसलैंड के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

Todays Hindi Current Affairs/ News Headlines :12 Feb  2020

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मत्स्य पालन के क्षेत्र में भारत और आइसलैंड के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) को मंजूरी दी । 10 सितंबर 2019 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे।

उद्देश्य:
समझौता ज्ञापन भारत और आइसलैंड के बीच मौजूदा मैत्रीपूर्ण संबंधों को मजबूत करेगा। यह द्विपक्षीय मुद्दों पर परामर्श सहित मत्स्य पालन पर परामर्श और सहयोग को भी बढ़ाएगा।

एमओयू प्रावधान:

  • एमओयू वैज्ञानिकों और तकनीकी विशेषज्ञों के आदान-प्रदान और उनके उचित स्थान के लिए सुविधाएं बनाएगा, विशेष रूप से अपतटीय और गहरे समुद्र के क्षेत्रों में कुल स्वीकार्य कैच का अनुमान लगाने के क्षेत्रों में।
  • आधुनिक मत्स्य प्रबंधन और मछली प्रसंस्करण के क्षेत्रों पर विभिन्न प्रबंधन पहलुओं में प्रमुख मत्स्य संस्थानों से मत्स्य पेशेवरों को प्रशिक्षण का प्रावधान।
  • समझौता ज्ञापन के तहत, वैज्ञानिक साहित्य अनुसंधान निष्कर्षों और अन्य सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाएगा।
    यह मछली पकड़ने की संभावनाओं का अध्ययन करने के लिए विशेषज्ञों / विशेषज्ञता का आदान-प्रदान करेगा।

WHO द्वारा नए कोरोनावायरस को आधिकारिक तौर पर Covid-19 नाम दिया गया है

Covid -19 coronavirusद वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने अब आधिकारिक रूप से नए कोरोनावायरस को नाम दिया है, जो अब तक 1000 से अधिक लोगों की जान ले चुका है, Covid -19। यह कोरोनवायरस वायरस 2019 का छोटा संस्करण है।

Check Out  Today's Hindi Current Affairs/ News Headlines : 08 Feb 2020

Coronavirus:
कोरोनावायरस साइनस, नाक या ऊपरी गले में संक्रमण का कारण बनता है। इस परिवार में अधिकांश वायरस खतरनाक नहीं हैं। लेकिन कुछ प्रकार के वायरस गंभीर होते हैं और मृत्यु का कारण बन सकते हैं। कोरोनवायरस को पहली बार 1960 के दशक में पहचाना गया था। यह वायरस इंसानों और जानवरों दोनों को संक्रमित कर सकता है। यह वायरस संक्रमित लोगों से छींकने, खांसने, किसी संक्रमित व्यक्ति के हाथ या चेहरे को छूने या संक्रमित लोगों को छूने से फैलता है।
2003 में, एक गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (SARS) के प्रकोप से 774 से अधिक लोगों की मौत हो गई। 2012 में, मध्य पूर्व श्वसन सिंड्रोम (MERS) से लगभग 858 लोग मारे गए। MERS और SARS कोरोनाविरस के प्रकार हैं। 2020 में, चीन में WHO द्वारा एक नए प्रकार के कोरोनावायरस, Covid -19 की पहचान की गई थी।

भारत सरकार ने घोषणा की है कि 1 अप्रैल 2020 से देश में बेचे जाने वाले सभी चिकित्सा उपकरणों को “ड्रग्स” माना जाएगा

सभी उपकरणों को ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट 1940 के तहत विनियमित किया जाएगा । यह घोषणा थी 11 फरवरी को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा बनाया गया। यह निर्णय ड्रग्स तकनीकी सलाहकार बोर्ड (DTAB) के साथ परामर्श के बाद किया गया था ।
वर्तमान में, 23 चिकित्सा उपकरणों को दवाओं के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इनमें से केवल कार्डियक स्टेंट, अंतर्गर्भाशयी उपकरण, ड्रग-एल्यूटिंग कार्डियक स्टेंट, कंडोम सहित कुछ को ही मूल्य नियंत्रण में लाया गया है।

ड्रग्स तकनीकी सलाहकार बोर्ड (DTAB):
DTAB भारत में दवाओं से संबंधित तकनीकी मामलों पर सर्वोच्च वैधानिक निर्णय लेने वाली संस्था है।
इसका गठन ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, 1940 के प्रावधानों के तहत किया गया था ।
DTAB स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत CDSCO का हिस्सा है ।

देश में 12 फरवरी को मनाया जाता है राष्ट्रीय उत्पादकता दिवस

National Productivity Day
National Productivity Day यानि राष्ट्रीय उत्पादकता दिवस प्रतिवर्ष 12 फरवरी को मनाया जाता है। इस दिन को भारत में उत्पादकता संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद (National Productivity Council) द्वारा मनाया जाता है।
भारत के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अंर्तगत आने वाला राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद (NPC) भारत में उत्पादकता संचार के प्रचार-प्रसार का एक प्रमुख संस्थान है। एनपीसी उत्पादकता बढ़ाने, प्रतिस्पर्धा बढ़ाने, उत्पादकता बढ़ाने की दिशा में समाधान खोजने के लिए कार्य करता है। पूरे देश में 12 फरवरी से 18 फरवरी 2020 को “उत्पादकता सप्ताह” के रूप में मनाया जाएगा।
उपरोक्त समाचार से सभी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद के अध्यक्ष: गुरुप्रसाद महापात्र
  • राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद के महानिदेशक: अरुण कुमार झा

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.