Today’s Hindi Current Affairs/ News Headlines : 13 Feb 2020

NOTE : Today’s Top Hindi Current Affairs/ News Headlines :13 Feb 2020. यूपीएससी, एसएससी, बैंक, रेलवे सहित केंद्र एबं राज्य सरकारों द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगिता परीक्षा के लिए उपयोगी

दिन के शीर्ष करंट अफेयर्स: 13 फरवरी 2020. तुरंत सभी आवश्यक जानकारी के साथ नवीनतम करेंट अफेयर्स प्राप्त करें, आज के सभी मौजूदा मामलों को जानने के लिए पहले बनें 13 फरवरी 2020 शीर्ष समाचार, प्रमुख मुद्दे, वर्तमान समाचार, राष्ट्रीय वर्तमान समाचारों में महत्वपूर्ण घटनाएं स्पष्ट स्पष्टीकरण के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं और साक्षात्कारों के लिए, अपने आप को नवीनतम करंट अफेयर्स  से update करें।

NEWS HEADLINES

Table of Contents

Today’s Top Hindi Current Affairs/ News Headlines

राष्ट्रीय महिला दिवस 13 फरवरी को मनाया जाता है

76हर साल 13 फरवरी को राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। यह दिन सरोजिनी नायडू की जयंती का दिन है। यह दिन पहली बार 13 फरवरी 2014 को दिवंगत सरोजिनी नायडू की 135 वीं जयंती के दिन मनाया गया था। इस दिन को सरोजिनी नायडू के काम और योगदान को सम्मानित करने के लिए नामित किया गया था।

सरोजिनी नायडू:

  • सरोजिनी नायडू का जन्म 13 फरवरी 1879 को हुआ था । उनकी कविताओं के कारण उन्हें ‘नाइटिंगेल ऑफ इंडिया’ के रूप में जाना गया। 1928 में, ब्रिटिश सरकार ने भारत में प्लेग महामारी के दौरान अपने काम के लिए कैसर-ए-हिंद को सम्मानित किया।
  • वह भारत की पहली महिला राज्यपाल थीं। उन्होंने 1947-1949 तक संयुक्त प्रांत (वर्तमान उत्तर प्रदेश) में सेवा की । उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लिया।
  • गोल्डन थ्रेशोल्ड, द बर्ड ऑफ टाइम: सॉन्ग ऑफ लाइफ, डेथ, एंड द स्प्रिंग, फेस्टिवल ऑफ यूथ, द मैजिक ट्री, द विजार्ड मास्क, मुहम्मद जिन्ना: एन एम्बेसडर ऑफ यूनिटी , द सेप्ट्रेड फ्लूट, सोंग्स ऑफ इंडिया, इलाहाबाद: किताबीस्तान , इंडियन वीवर्स सरोजिनी नायडू की साहित्यिक कृतियाँ हैं। 2 मार्च 1949 को दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यु हो गई।

नोट: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस हर साल 8 मार्च को मनाया जाता है।

IFAD का 43 वां सत्र रोम में आयोजित किया गया 

कृषि विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय कोष (IFAD) के गवर्निंग काउंसिल के 43 वें सत्र का आयोजन 11-12 फरवरी 2020 तक रोम में किया गया। संयुक्त राष्ट्र (UN) के IFAD का उद्देश्य विकासशील देशों में भूख और गरीबी को संबोधित करना है। 

THEME:
सत्र का विषय “2030 तक भूख को समाप्त करने के लिए स्थायी खाद्य प्रणालियों में निवेश” है। यह टिकाऊ, समावेशी, पौष्टिक और कुशल खाद्य प्रणालियों का समर्थन करने में IFAD की भूमिका और अनुभव पर प्रकाश डालता है।

IFAD:
IFAD की स्थापना 1974 में विश्व खाद्य सम्मेलन में की गई थी । यह एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान है और रोम स्थित एक विशेष संयुक्त राष्ट्र एजेंसी है। इसका उद्देश्य ग्रामीण लोगों को खाद्य सुरक्षा बढ़ाने, उनके परिवारों के पोषण में सुधार और उनकी आय में वृद्धि करना है। संगठन ने विशेष रूप से कृषि, ग्रामीण अर्थव्यवस्था और खाद्य प्रणालियों को बदलने पर ध्यान केंद्रित किया।

पुर्तगाल के राष्ट्रपति भारत में 4 दिवसीय यात्रा के लिए पहुंचे

पुर्तगाल के राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसापुर्तगाल के राष्ट्रपति मार्सेलों राबेलो डी सौसा 14 फरवरी से चार दिवसीय भारत यात्रा पर हैं। वह 13 फरवरी को पहुंचे। यह राष्ट्रपति मार्सेलो की भारत की पहली यात्रा है। उनके साथ प्रोफेसर यूरिको ब्रिलानेट डायस, अंतर्राष्ट्रीयकरण राज्य सचिव, प्रोफेसर ऑगस्टो सैंटोस सिल्वा राज्य और विदेश मामलों के मंत्री, और जॉर्ज सेगुरो सांचेज़, राष्ट्रीय रक्षा राज्य सचिव शामिल होंगे।

एजेंडा:
राष्ट्रपति मार्सेलो राजघाट जाएंगे ।
वह प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वार्ता करेंगे ।
राष्ट्रपति महाराष्ट्र और गोवा का दौरा करेंगे।

राष्ट्रपति मार्सेलों राबेलो डी सौसा  2021 यूरोपीय संघ परिषद् के अध्यक्ष का कार्यभार संभालेंगे। यूरोपीय संघ के तीन अध्यक्ष होते हैं, यूरोपीय परिषद् का अध्यक्ष, यूरोपीय संसद का अध्यक्ष तथा यूरोपीय आयोग का अध्यक्ष। वैश्विक स्तर पर यूरोपीय परिषद् के सदस्य को यूरोपीय संघ का प्रधान अध्यक्ष माना जाता है।

13 फरवरी : विश्व रेडियो दिवस

13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य मनोरंजन, सूचना तथा संचार माध्यम के रूप में रेडियो के महत्व को रेखांकित करना है। इस अवसर पर यूनेस्को प्रसारकों, संगठनों तथा समुदायों के साथ मिलकर विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करता है।

रेडियो मनोरंजन, सूचना तथा संचार का एक महत्वपूर्ण माध्यम है, यह सूचना के माध्यम के रूप में लोगों के सशक्तिकरण का कार्य भी करता है।

विश्व रेडियो दिवस

यूनेस्को ने 2011 में 36वीं महासभा में 13 फरवरी को विश्व रेडियो दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा की थी। बाद में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा इसे अंतर्राष्ट्रीय दिवस घोषित किया गया। इसी दिन 1946 में संयुक्त राष्ट्र रेडियो ने पहला कॉल साइन ट्रांसमिट किया था। पहली बार विश्व रेडियो दिवस को 2012 में मनाया गया था।

कैबिनेट ने ‘प्रत्यक्ष कर विवाद से विश्वास’ बिल में बदलाव को मंज़ूरी दी

कैबिनेट ने ‘प्रत्यक्ष कर विवाद से विश्वास’ बिल में बदलाव को मंज़ूरी दे दी है। केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने केन्द्रीय बजट में प्रत्यक्ष कर से सम्बंधित विवादों के  समाधान के लिए ‘विवाद से विश्वास’ योजना की घोषणा की थी। वित्त मंत्री ने हाल ही में संसद में ‘विवाद से विश्वास’ बिल प्रस्तुत किया था।

अब इसमें DRT (debt recovery tribunals) में लंबित मामलों को भी शामिल किया जाएगा।

विवाद से विश्वास बिल

इस योजना के तहत जिन करदाताओं प्रत्यक्ष कर का मामला विवादित  है, वे 31 मार्च, 2020 तक अपना कर अदा कर सकते हैं। डेडलाइन से पहले कर का भुगतान करने के कारण करदाता को ब्याज व दंड से मुक्ति मिलेगी। जून, 2020  तक करदाता 10% ब्याज के साथ कर का भुगतान कर सकते हैं। विवाद से विश्वास योजना के द्वारा 4,83,000 प्रत्यक्ष कर के विवादित मामलों का समाधान होगा।

2019 के बजट में अप्रत्यक्ष कर सबका  विश्वास योजना शुरू की गयी थी, जिसके द्वारा सेवा कर तथा आबकारी शुल्क से सम्बंधित विवादों का निपटान करने का लक्ष्य रखा गया था।

आयुष्मान भारत : स्कूल हेल्थ एम्बेसडर पहल लांच की गयी

केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत के तहत स्कूल हेल्थ एंड वैलनेस एम्बेसडर पहल लांच की, इस पहल के तहत प्रत्येक सरकारी स्कूल में दो अध्यापकों को ‘हेल्थ एंड वैलनेस एम्बेसडर’ चुना जायेगा।

मुख्य बिंदु

इस पहल को ईट राईट अभियान, फिट इंडिया मूवमेंट और पोषण अभियान इत्यादि से जोड़ा जाएगा। इस अभियान के लिए 11 थीम चिन्हित की गयी हैं, इसमें स्वस्थ विकास, भावनात्मक स्वास्थ्य, जिम्मेदाराना नागरिकता, पोषण, स्वास्थ्य, लैंगिक समानता, स्वस्थ जीवनशैली को बढ़ावा देना, HIV रोकथाम, हिंसा के विरुद्ध सुरक्षा तथा इन्टरनेट का सुरक्षित उपयोग शामिल है।

इन एम्बेसडर को NCERT द्वारा गठित National Resource Group द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इस पहल के प्रथम चरण का क्रियान्वयन एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्टस के अप्पर प्राइमरी और सेकेंडरी स्कूलों में किया जाएगा। बाकी जिलों के स्कूलों  को पहल के दूसरे वर्ष में शामिल किया जाएगा।

कैबिनेट ने कीटनाशक प्रबंधन विधेयक, 2020 को मंज़ूरी दी

12 फरवरी, 2020 को कैबिनेट ने कीटनाशक प्रबंधन विधेयक, 2020 को मंज़ूरी दी। इस बिल का उद्देश्य किसानों के लिए सुरक्षित व प्रभावशाली कीटनाशक बनाना है। यह बिल कीटनाशक अधिनियम, 1968 का स्थान लेगा।

मुख्य बिंदु

इस बिल में कम गुणवत्ता वाले कीटनाशक के कारण फसल को नुकसान होने के कारण क्षतिपूर्ति की व्यवस्था की गयी है। किसानों को होने वाले नुकसान की भरपाई विनिर्माताओं से एकत्रित किये गये फण्ड से की जायेगी। बाज़ार में मौजूद कीटनाशकों की जानकारी डिजिटल फॉर्मेट में उपलब्ध करवाई जाएगी। इससे किसानों को सही कीटनाशक का चुनाव करने में सहायता मिलेगा।

भारत में कीटनाशक

भारत में लगभग 234 कीटनाशक इस्तेमाल किये जाते हैं। इसमें से चार कीटनाशक विश्व स्वास्थ्य संगठन की ‘la’ श्रेणी में है, 15 ‘lb’ श्रेणी में है। जबकि 76 कीटनाशक विश्व स्वास्थ्य संगठन की क्लास II श्रेणी में हैं। देश में इस्तेमाल किये जाने वाले केवल 40% कीटनाशक ही पंजीकृत हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा वर्गीकरण

  • ‘la’ श्रेणी के कीटनाशक अत्याधिक खतरनाक होते हैं
  • ‘lb’ श्रेणी के कीटनाशक खतरनाक श्रेणी में आते हैं
  • श्रेणी II के कीटनाशक सामान्य रूप से खतरनाक होते हैं
  • श्रेणी III के कीटनाशक थोड़े कम खतरनाक होते हैं

जी. नारायणन को न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड का चेयरमैन नियुक्त किया गया

जाने-माने अंतिरक्ष वैज्ञानिक जी. नारायणन को ‘न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड’ का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। ‘न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड’ इसरो की वाणिज्यिक इकाई है। इससे पहले जी. नारायणन तिरुवनंतपुरम में इसरो की एक इकाई LPSC (Liquid Propulsion Systems Centre) में डिप्टी डायरेक्टर के रूप में कार्यरत थे। ‘न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड’ एक सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई है, इसका गठन इसरो के अधीन किया गया है, इसके द्वारा स्पेस मार्केट में वाणिज्यिक अवसरों का उपयोग किया जाएगा। ‘न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड’ छोटे उपग्रहों को लांच करने के लिए SSLV (Small Satellite Launch Vehicle) का निर्माण करेगा।

न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड

23 मई, 2019 को न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) का उद्घाटन बंगलुरु में किया गया, यह भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) की वाणिज्यिक शाखा है। यह अन्तरिक्ष टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में निजी उद्यम को बढ़ावा देगी। यह तकनीक हस्तांतरण मैकेनिज्म के द्वारा स्माल सैटेलाइट लांच व्हीकल (SSLV) तथा PSLV के विकास व उत्पादन का कार्य करेगी। यह वैश्विक वाणिज्यिक SSLV मार्केट की मांग को पूरा करने महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

6 मार्च, 2019 को अन्तरिक्ष विभाग ने इसरो ने अपनी दूसरी इकाई NSIL का पंजीकरण किया था। अन्तरिक्ष विभाग का पहला वाणिज्यिक वेंचर एंट्रिक्स कारपोरेशन लिमिटेड था, इसकी स्थापना सितम्बर, 1992 में की गयी थी। NSIL के द्वारा इसरो के अनुसन्धान व विकास कार्य का वाणिज्यीकरण किया जाएगा। NSIL को 100 करोड़ रुपये की शेयर कैपिटल प्रदान की गयी है, इसे 10 करोड़ रुपये की पेड-अप कैपिटल प्रदान की गयी है।

फेसबुक ने उत्तर प्रदेश में शुरू की ‘वी थिंक डिजिटल’ पहल

‘वी थिंक डिजिटल’ अमेरिकी कंपनी फेसबुक का डिजिटल साक्षरता अभियान है। इसे फेसबुक द्वारा 2019 में लांच किया गया था। इसका उद्देश्य इन्टरनेट पर लैंगिक असमानता को कम करना है।

हाल ही में फेसबुक ने उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय महिला आयोग और साइबर पीस फाउंडेशन के साथ मिलकर ‘वी थिंक डिजिटल’ अभियान शुरू किया है। इस कार्यक्रम के तहत भारत के 7 राज्यों में लगभग एक लाख महिलाओं को डिजिटल साक्षरता प्रदान की जायेगी।

फेसबुक

फेसबुक विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग कंपनी है, व्हाट्सएप्प और इन्स्टाग्राम इसकी सब्सिडियरी हैं। फेसबुक की स्थापना 4 फरवरी, 2004 को की गयी थी। इसके सह- संस्थापक मार्क जकरबर्ग, एदुआर्दो सेवरिन, एंड्रू मैककॉलम, डस्टिन मोस्कोवित्ज़ और क्रिस ह्यूज़ हैं। फेसबुक का मुख्यालय अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया के मेनलो पार्क में स्थित है। जनवरी 2018 के आंकड़ों के अनुसार फेसबुक के लगभग 2.2 अरब यूजर हैं।

भुबनेश्वर में किया गया द्वितीय बिम्सटेक आपदा प्रबंधन अभ्यास 2020 का आयोजन

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF) द्वारा द्वितीय बिम्सटेक आपदा प्रबंधन अभ्यास-2020 (BIMSTEC DMEx-2020) का आयोजन ओडिशा के भुबनेश्वर में किया गया। इस अभ्यास का आयोजन 11 फरवरी, 2020 से 13 फरवरी, 2020 के बीच किया गया।

इस अभ्यास में बाढ़, भूकंप और तूफ़ान के दौरान आपदाओं के लिए मौजूदा आपातकालीन प्रक्रियाओं का परीक्षण किया गया।  इस अभ्यास में आपदाओं के कारण क्षतिग्रस्त धरोहर स्थलों के जीर्णोंधार पर भी बल दिया गया।

Theme: A Cultural Heritage Site that suffers severe damage in the Earthquake and Flooding or Storm

इस अभ्यास में बांग्लादेश, भारत, म्यांमार, श्रीलंका और नेपाल हिस्सा ने हिस्सा लिया। इस अभ्यास में दो बिम्सटेक देश थाईलैंड और भूटान ने हिस्सा नहीं लिया।

बिम्सटेक (Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral, Technical and Economic Cooperation)

बिम्सटेक दक्षिण एशिया तथा दक्षिण पूर्वी एशिया के 7 देशों का समूह है, जो बंगाल के खाड़ी के निकट स्थित हैं। बिम्सटेक की स्थापना 6 जून, 1997 को बैंकाक घोषणा के द्वारा की गयी थी। बिम्सटेक का मुख्यालय बांग्लादेश की राजधानी ढाका में स्थित है।

बिम्सटेक के सदस्य देश भारत, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड हैं। इन सभी देशों की जनसँख्या लगभग 1.5 अरब है जो कि विश्व की कुल जनसँख्या का 22% है।

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF)

NDRF आपदा के समय त्वरित क्रिया करने वाला बल है, इसकी स्थापना वर्ष 2006 में आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के अंतर्गत की गयी थी। NDRF का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। यह केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करता है। NDRF के लिए नीति, योजना तथा दिशानिर्देश का निर्माण राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) द्वारा किया जाता है।

NDRF प्राकृतिक आपदा, मानव निर्मित आपदा, दुर्घटना अथवा आपातकाल के दौरान राहत व बचाव कार्य करता है। इस दौरान जान-माल की रक्षा के लिए NDRF स्थानीय एजेंसियों के साथ मिलकर कार्य करता है। वर्तमान में NDRF की 12 बटालियन देश के अलग-अलग हिस्सों में नियुक्त की गयी हैं।

गूगल ने लांच की ‘पहले सेफ्टी’ नामक इन्टरनेट सुरक्षा पहल

गूगल इंडिया ने हाल ही में ‘पहले सेफ्टी’ नामक सार्वजनिक जागरूकता पहल की घोषणा की है। इस पहल के द्वारा लोगों को इन्टरनेट का उपयोग करते समय सुरक्षा उपायों के बारे में बताया जाएगा। गूगल इंडिया ने ‘सिक्यूरिटी चेक अप’ और ‘पासवर्ड चेक अप’ नामक शक्तिशाली टूल भी लांच किये हैं।

गूगल

गूगल एक अमेरिकी टेक कंपनी है। इसकी स्थापना  4 सितम्बर, 1998 को लैरी पेज तथा सेर्गे ब्रिन द्वारा की गयी थी। वर्तमान में गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट  के सीईओ भारतीय मूल के सुन्दर पिचाई हैं। गूगल में एक लाख से अधिक कर्मचारी काम करते हैं। गूगल के मुख्य उत्पाद इस प्रकार हैं : यूट्यूब, गूगल सर्च इंजन, गूगल असिस्टेंट, गूगल ट्रांसलेट, गूगल एड्स, गूगल एडसेंस, ब्लॉगर, गूगल डॉक्स, गूगल हैंगआउट्स, गूगल ड्राइव, गूगल मैप्स, जीमेल, गूगल प्ले, एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम, गूगल पे, गूगल पिक्सल स्मार्टफ़ोन इत्यादि।

12-18 दिसम्बर तक मनाया जा रहा है राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह

राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद् (National Productivity Council) का उद्देश्य देश में उत्पादकता को बढ़ावा देना है। यह परिषद् केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के अधीन उद्योग संवर्धन व आंतरिक व्यापार विभाग के अधीन कार्य करती है।

इस परिषद् का स्थापना दिवस 12 फरवरी को ‘उत्पादकता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। जबकि 12 से 18 फरवरी तक उत्पादकता सप्ताह मनाया जाता है। इस दौरान उत्पादकता को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न इवेंट्स का आयोजन किया जाता है।

राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद् (National Productivity Council)

राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद् (National Productivity Council) उद्योग संवर्धन व आंतरिक व्यापार विभाग (DPIIT) के अधीन पंजीकृत एक स्वायत्त सोसाइटी है। इसकी स्थापना 1985 में की गयी थी। इसकी स्थापना का मुख्य उद्देश्य भारत में उत्पादकता की बेहतर संस्कृति को बढ़ावा देना है।

प्रवासी भारतीय केंद्र का नाम बदलकर सुषमा स्वराज भवन किया गया

भारत सरकार ने नई दिल्ली में स्थित प्रवासी भारतीय केंद्र का नाम बदलकर सुषमा स्वराज भवन व विदेश सेवा संस्थान  करने का निर्णय लिया है। इसकी घोषणा विदेश मंत्रालय ने सुषमा स्वराज के जन्म दिवस पर की। सुषमा स्वराज भारत की सबसे लोकप्रिय विदेश मंत्रियों में से एक थीं, उन्होंने भारतीय कूटनीति को नए स्तर पर पहुँचाया तथा विदेश में रहने वाले भारतीयों के लिए उत्कृष्ट कार्य किया।

सुषमा स्वराज

सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी, 1952 को पंजाब के अम्बाला में हुआ था। उन्होंने सनातन धर्म कॉलेज से अपनी पढ़ाई की। उनके पिताजी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य थे। सुषमा स्वराज 13 मई, 2009 से 24 मई, 2019 के बीच लोकसभा सांसद रहीं। वे 13 अक्टूबर, 1998 से 3 दिसम्बर, 1998 के बीच दिल्ली की पांचवी मुख्यमंत्री भी रहीं। वे 30 सितम्बर, 2000 से 29 जनवरी, 2003 तक देश की सूचना व प्रसारण मंत्री रहीं। वे 29 जनवरी, 2003 से 22 मई, 2004 के बीच संसदीय मामलों की मंत्री रही। वे 26 मई, 2014 से 30 मई, 2019 तक विदेश मंत्री रहीं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आईएनएस शिवाजी को प्रेसिडेंट्स कलर्स प्रदान किये

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महाराष्ट्र के लोनावला में भारतीय नौसेना की आईएनएस शिवाजी को प्रेसिडेंट्स कलर्स प्रदान किये। प्रेसिडेंट्स कलर्स किसी सैन्य इकाई को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है। गौरतलब है कि आईएनएस शिवाजी 75 वर्षों से देश की सेवा में कार्यरत्त हैं।

आईएनएस शिवाजी

आईएनएस शिवाजी भारतीय नौसेना की प्रमुख तकनीकी प्रशिक्षण फैसिलिटी है। यह फैसिलिटी  876 एकड़ में फैली हुई है। आईएनएस शिवाजी 2019-20 को प्लैटिनम जुबली ईयर के रूप में मन रहा है। इस संस्थान को HMIS शिवाजी को कमीशन किया गया था। आईएनएस शिवाजी द्वारा भारतीय नौसेना, भारतीय तटरक्षक बल तथा अन्य मित्र देशों के सैनिकों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। इसका निर्माण 1945 में किया गया था।

आईएनएस शिवाजी की प्लैटिनम जुबली के अवसर पर नौसेना प्रमुख ने आईएनएस शिवाजी की वेबसाइट को भारतीय नौसेना के पोर्टल पर लांच किया।

बिम्सटेक : नशीली दवाओं की तस्करी पर रोक लगाने के लिए सम्मेलन नई दिल्ली में शुरू हुआ

13 फरवरी, 2020 को केन्द्रीय मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में नशीली दवाओं के तस्करी पर रोक लगाने के लिए बिम्सटेक देशों के सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस सम्मेलन का आयोजन नारकोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो द्वारा किया जा रहा है। इस सम्मेलन में बांग्लादेश, म्यांमार, भूटान, नेपाल, थाईलैंड और श्रीलंका ने हिस्सा लिया। इस सम्मेलन का उद्देश्य प्रभावित क्षेत्रों में नशीली दवाओं के अवैध व्यापार पर रोक लगाना है।

यह सम्मेलन भारत की ‘एक्ट ईस्ट पालिसी’ और ‘नेबरहुड पालिसी’ के लिए महत्वपूर्ण है। बिम्सटेक प्लेटफार्म के द्वारा भारत इन उद्देश्यों की पूर्ती कर सकता है।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस प्रकार के बहुपक्षीय सम्मेलनों की आवश्यकता है, वैश्विक स्तर पर अवैध नशीली दवाओं का व्यापार बढ़कर 400 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। पिछले 10 वर्षों में नशीलों दवाओं के आदि लोगों की संख्या में 30% की वृद्धि हुई है।

बिम्सटेक (Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral, Technical and Economic Cooperation)

बिम्सटेक दक्षिण एशिया तथा दक्षिण पूर्वी एशिया के 7 देशों का समूह है, जो बंगाल के खाड़ी के निकट स्थित हैं। बिम्सटेक की स्थापना 6 जून, 1997 को बैंकाक घोषणा के द्वारा की गयी थी। बिम्सटेक का मुख्यालय बांग्लादेश की राजधानी ढाका में स्थित है।

बिम्सटेक के सदस्य देश भारत, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड हैं। इन सभी देशों की जनसँख्या लगभग 1.5 अरब है जो कि विश्व की कुल जनसँख्या का 22% है।

आईएनएस जमुना को श्रीलंका के तट पर जलराशि सर्वेक्षण के लिए तैनात किया गया

भारतीय नौसनिक पोत (आईएनएस) जमुना को श्रीलंका के तट पर संयुक्त जलराशि सर्वेक्षण (Hydrographic Survey) के लिए तैनात किया गया है। इस सर्वेक्षण को दो महीने के समय में किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

भारत और श्रीलंका मिलकर दो महीने तक जलराशी सर्वेक्षण तथा तटीय सर्वेक्षण गतिविधियाँ करेंगे। सर्वेक्षण के अलावा श्रीलंकाई नौसैनिक अधिकारियों को सर्वेक्षण प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

जलराशि सर्वेक्षण

जलराशि सर्वेक्षण के द्वारा समुद्री नौसंचालन (नेविगेशन) को प्रभावित करने वाली विशेषताओं का अध्ययन किया जाता है। इसमें ऑफशोर तेल खोज, तेल के लिए ड्रिलिंग तथा अन्य गतिविधियाँ शामिल हैं।

इस सर्वेक्षण के लिए मानक अंतर्राष्ट्रीय जलराशी संगठन (International Hydrographic Organization) द्वारा जारी किये जाते हैं। इसकी स्थापना 1921 में की गयी थी। इसका उद्देश्य विश्व भर के सागरों का सर्वेक्षण सुनिश्चित करवाना है। अक्टूबर, 2019 तक इस संगठन के 93 सदस्य थे, भारत भी इसका सदस्य है।

भारतीय नौसनिक जलराशि विभाग (Indian Naval Hydrographic Department)

भारतीय नौसनिक जलराशि विभाग का कार्यालय उत्तराखंड के देहरादून में स्थित है। वर्तमान समय आठ भारतीय नौसनिक पोत जलराशि सर्वेक्षण के लिए तैनात की गयी हैं, इसमें आईएनएस निरूपक, आईएनएस जमुना, आईएनएस इन्वेस्टिगेटर, आईएनएस सतलुज, आईएनएस संधायक, आईएनएस दर्शक तथा आईएनएस सर्वेक्षक शामिल हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.